Breaking News

ਵੱਡੀ ਖਬਰ : ਘੱਟ ਉਮਰ ਵਿੱਚ ਹੀ ਇਸ ਵੱਡੀ ਐਕਟਰੈਸ ਦੀ ਹੋਈ ਮੌਤ , ਸੋਗ ਵਿੱਚ ਪੂਰਾ ਫ਼ਿਲਮੀ ਜਗਤ

मौत किसी की भी और कैसी भी हो यकीन मानिये बहुत ही दुखद होती है. परिवार और जान पहचान वालों को जीवन भर का दुःख देकर जिसे मौत बुला ले उसे जाना ही पड़ता है. ऐसे में हाल ही में बॉलीवुड और टेलिविज़न को एक बड़ा झटका देते हुए मशहूर अभिनेत्री रीता कोइराला की रविवार को कैंसर (लीवर कैंसर) की गंभीर बीमारी की वजह से मौत हो गयी हैं.

बताया जा रहा है रीता का इलाज़ मुंबई के एक निजी अस्पताल में चल रहा था जहाँ आखिरकार रविवार को उनकी मौत हो गयी. रीता की मौत के बाद जहाँ सभी दुखी हैं वहीँ इसे बॉलीवुड और टीवी जगत दोनों के लिए ही एक बड़ा झटका माना जा रहा है क्योंकि रीता दोनों ही इंडस्ट्री में अपनी धाक जमा चुकी थीं. जानकारी एक लिए बता दें कि रीता कोइराला ने रितुपर्णा घोष की ‘असुख’ (1999) के अलावा अपर्णा सेन की ‘पारोमितार एकदिन’ (2008) और अंजन दत्त की फिल्म ‘दत्त वर्सेज दत्त’ (2012) में अपना अमूल्य योगदान दिया था.

यहाँ सबसे ज्यादा दुखद बात ये है कि रीता इन दिनों ‘राखी बंधन’ और ‘स्त्री’ जैसे दो बहुप्रसिद्ध टीवी शो में काम कर रहीं थीं. अपनी दुर्भाग्यवश मौत के समय रीता महज़ 58 साल की थीं. बताया जा रहा है कि रीता की इस बीमारी की जानकारी उनके परिवार को दो महीने पहले ही मिली थी. हालाँकि उन्होंने अपना काम जारी रखा था. वो शूट भी करती थीं और अस्पताल भी जाती रहती थी. यहाँ तक की सात दिन पहले ही वह कीमो करके अस्पताल से घर पहुंची थीं, लेकिन रविवार को जब एक बार फिर उनकी तबियत बिगड़ने लगी तो उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहाँ उनकी मौत हो गयी.

रीता कोइराला की मौत पर शोक प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी ट्वीट कर कहा है कि, “इस प्रतिभाशाली अभिनेत्री की बहुत कम उम्र में ही मौत हो गई. उनके परिजनों, मित्रों और प्रशंसकों के प्रति गहरी संवेदना.” जायज़ है कि कोइराला के निधन की सूचना मिलते ही पूरा फिल्म जगत शोकाकुल हो गया है.

About admin

Check Also

ਆ ਆਸ਼ਕ ਕੁੜੀ ਦਾ ਕੋਈ ਹਾਲ ਨਹੀਂ ਪੜੋ ਇਹਦੀ ਚੈਟ

ਆ ਆਸ਼ਕ ਕੁੜੀ ਦਾ ਕੋਈ ਹਾਲ ਨਹੀਂ ਪੜੋ ਇਹਦੀ ਚੈਟ टेक्नोलॉजी के आने के बाद …